Tag : jaun-eliya

Jitne Muh Utni Baatein

जितने मुँह उतनी बातें

“लम्बा चौड़ा आदमी था, शेव बढ़ी हुई थी” “यार शेव कब बनवाओगे? बहुत बढ़ रही है” यह दोनों जुमले टेक्निकली ग़लत हैं, शेव अंग्रेज़ी का लफ़्ज़ है जिसके मानी हैं ‘बाल या दाढ़ी मुंडवावाना’, लेकिन ऊपर के दोनों जुमलों में इसको दाढ़ी के मानी में इस्तिमाल किया है, यानी एकदम उलट मतलब लिया है। तो… continue reading

top 5 content rekhta

Readers’ Choice on Rekhta in 2018!

The year 2018 saw the Rekhta family grow by huge numbers. Millions of people joined in to read and relish Urdu poetry and literature. We have compiled a list of the most searched content on the Rekhta website. These were the most searched couplets on the Rekhta website. To read more of the poet just… continue reading

Twitter Feeds

Facebook Feeds