Articles By Rekhta

कृष्ण चंद्र के पढ़े लिखे गधे

हर ज़माने में गधों की अज़मत का तरह तरह से एतराफ़ किया गया, कभी ये पैग़म्बरों की सवारी बने, कभी इन्सानों का बोझ उठाया, किसी पार्टी के इंतिख़ाबी निशान के तौर पर पहचाना गया, कभी सियासी जलसों में डिस्कस हुए, हमारे यहां गधा महज़ बोझ उठाने वाला जानवर ही नहीं एक काबिल-ऐ-क़दर जंगी हीरो भी… continue reading

बात से बात चले!

आग़ाज़ हम आप के ख़ानदानी पस-मंज़र से करेंगे, क्या आप के घर में शा’इरी और अदब का माहौल था, जिस से प्रभावित हो कर आप भी शे’र की तरफ़ माइल हुए। इस के बारे में कुछ हमें बताइए। नहीं ! मेरे परिवार का दूर- दूर तक शा’इरी तो क्या किसी भी क़िस्म की आर्ट से… continue reading

10 बेहतरीन उर्दू किताबें

अच्छी किताब अपने पाठक के लिए ऐसे दोस्त की हैसियत रखती है जो उस को कभी तन्हाई का एहसास नहीं होने देती, यह एक ऐसे हमसफर की तरह है जो अपने साथी को दूर दराज़ के इलाक़ों और शहरों की घर बैठे सैर करा देती है, आजकल हम करोना की वबा के कारण सफ़र नहीं… continue reading

Zameen Kha Gai Aasman Kaise Kaise

Zameen Kha Gai Aasman Kaise Kaise

Not many cities have risen to the iconic stature as has Delhi. It has also seen its glorious figures forgotten in its prolonged history. Delhi has long been the heart of art, culture and trade. Centuries before reaching the zenith of its glory in the late Mughal period, Delhi made the legendary Amir Khusro call… continue reading

Romance of Urdu in India

Concept and Text: Aftab Husain Speaking about literature in terms of a Hindu-Muslim divide might seem politically incorrect but, at times, it is necessary to have a ‘communal’ perspective only to get a secular picture of the phenomenon Apart from sharing a humanist-progressive worldview in life and literature, Hindi critic Professor Namwar Singh and fiction… continue reading

Twitter Feeds

Facebook Feeds